Blog और Website के लिएँ Custom Domain Name क्यों जरुरी हैं ? Full Guide

दोस्तों आज internet का लोग ज्यादातर इस्तमाल जानकारी प्राप्त करने और जानकारी share करने के लिएँ ,करते हैं |इसी के चलते आज कई लोग ऑनलाइन आ रहे हैं |जो अपनी वेबसाइट और ब्लॉग के जरिये अपनी जानकारी या Information share करते हैं | जिससे वे ऑनलाइन पैसा कमा सके और अपनी जरूरतों को पूरा कर सके | जबकि ऐसा करने में कई लोग Successful भी हो चुके हैं ,लेकिन जो लोग English का कम ज्ञान रखते हैं |वो लोग इस क्षेत्र में अभी-भी बहुत पीछे हैं |जिसका सीधा सा मतलब की हिंदी में सही और पूरी जानकारी का अभाब |

Custom Domain Name

और आज कुछ लोग हिंदी में ब्लॉग या वेबसाइट बनाते हैं,लेकिन वो एक सबसे बड़ी गलती शुरुआत में ही कर बैठते हैं |जिसका नुकसान बहुत बड़ा होता हैं |जिसका पता हमें बाद में चलता हैं |
क्योकि शुरूआत में कोई भी व्यक्ति Expert नहीं होता हैं |जैसे-जैसे हम blogging सीखते हैं, हमें अपनी गलतियों का पता चलता रहता हैं | और वो गलती है "कस्टम डोमेन नाम न खरीदना " तो चलिएँ दोस्तों में आज इसी विषय पर बात करने वाला हूँ |

और वो हैं "Custom Domain Name न खरीदना ": 

जी हाँ दोस्तों ये ऑनलाइन की दुनियाँ में आपकी सबसे बड़ी गलती हैं | क्यों इसके बारे में आज में आपको विस्तार से बताने वाला हूँ ,इस लिए इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें |
तो चलिएँ अब शुरू करते हैं |हिंदी में
विशेष सुचना : अगर आप डोमेन नाम के बारे में कुछ भी नहीं जानते तो इन Posts को पढ़ें ,इसके बाद ही आप इस पोस्ट का महत्व समझ पाएंगे |
1 Domain क्या है ? What is a Custom Domain Name?
2 Top 5 Domain Name Register Website's List
3 BlogSpot Blog ke Liye Custom Domain Name Kyo Jaruri Hai ?
4 Bigrok Se Custom Domain Name Kaise Kharide ?99 Rupayp
एक और बात ये है की हम हिंदी बोलने व लिखने वाले लोग ये सोचते है की हिंदी सर्च कौन करता हैं और अगर करता भी तो कितने |या फिर हम ये सोचते है की अगर फ्री डोमेन पर adsense अकाउंट approved हो जायेगा उसके बाद डोमेन नाम खरीद लेंगे |

Blog और Website के लिएँ Custom Domain Name क्यों जरुरी हैं ?

Custom Domain Name की Importance : 

1 याद रखने में आसानी :

पहला फायदा इसका ये है की हम कस्टम डोमेन नाम को आसानी से याद रख सकते हैं | एक बड़े डोमेन को याद रखने में थोड़ी बहुत परेशानी होती हैं |जैसे ही किसी ने अपने ब्लॉग का नाम बताया www.gosahayata.blogspot.com तो हम थोड़ी देर बाद ही वो नाम भूल जाते हैं | लेकिन अगर कोई आपको gosahayata.com कहे तो आप इसे आसानी से भूलने वाले नहीं हैं |क्योकि ज्यादातर websites के नाम एसे ही होते हैं |

मेरी भाषा में :

दोस्तों भारत में सभी के नाम समान होते हैं,जैसे राजू ,जीतू,राहुल आदि | तो अगर आपके दोस्त का नाम अमन है तो आप इस नाम को एक बार सुनने पर हमेशा के लिएँ याद कर लेंगे |क्योकि आप इन नाम को सुनते रहते है |

लेकिन वही किसी अंग्रेज का नाम सुन ले तो भी याद नहीं रहता |जैसे dren chipife तो इस नाम को आपको याद रखने में मुश्किल होगी |

क्योकि जो फ्री डोमेन नाम होते हैं वो Sub-domain के साथ आते हैं |जैसे gosahayata.blogspot.com जबकि ख़रीदा गया डोमेन कुछ इस तरह का होता हैं "gosahayata.com

तो अब आप ही बताईये की आपको कोनसा नाम आसानी से याद रहेगा |

2 पहचान/Identify होती हैं :

कस्टम डोमेन से आपकी एक पाचन होती हैं की ये आपके ब्लॉग/वेबसाइट का पता हैं |इससे ही आपकी असली पहचान बनती हैं,ऑनलाइन की दुनियाँ में |
1 इससे आप आगे चल कर कंपनी भी बना सकते हैं |
2 आपको एक ब्राण्ड नाम मिल जाता हैं |
3 इससे आप अपने अन्य product बेच सकते हैं |जैसे टीशर्ट,कैप,गिलास,आदि
4 एक आपको permanently address मिल जाता हैं |जिसे आप जहाँ चाहे Use कर सकते हैं |
5 अपना Business email Address भी बना सकते हैं |जैसे pradeep@gosahayata.com

दोस्तों फ्री डोमेन ज्यादातर लोग Blogger.com पर Use करते हैं |क्योकि ब्लॉगर फ्री में URL और Hosting Provide करवाता हैं | लेकिन सभी फ्री की चीजों पर ज्यादा विश्वास नहीं करना चाहिएं |वैसे गूगल आपके साथ ऐसा नहीं करेगा |लेकिन गूगल की Guidelines काफी सक्त होती हैं ,इस लिए आपकी एक गलती आपके Blogging करियर को ख़त्म कर सकती हैं | क्यो कि गूगल ऐसे ब्लॉग को कभी भी Support नहीं करता जो गूगल की Guidelines का उल्लंघन करता हैं |और इसी स्थति में गूगल आपके ब्लॉग को कभी delete कर सकता हैं |
ऐसे आपका सिर्फ एक ही सहारा होता हैं और वो हैं "कस्टम डोमेन नाम "

मेरी भाषा में :

दोस्तों जिस प्रकार हमारे कुछ पक्के दोस्त होते है ठीक उसी प्रकार फ्री या Sub-डोमेन नाम होता हैं |
मतलब की हमें हमारे दोस्तों पे पूरा भरोसा होता हैं ,ठीक उसी प्रकार फ्री डोमेन भी हमेशा साथ रहता हैं |लेकिन कभी कोई एसी परिस्थति आ जाये की हमें कुछ पैसो की जरूत पढ जाये (कुछ ज्यादा पैसो की ,क्योकि वो आपके बारे में सब जनता हैं |की आप उसको पैसे लोटा पाओगे के नहीं )|तो सबसे पहले वही दोस्त मना करता हैं |जो आपका पक्का दोस्त होता हैं |
इस लिए अगर कभी गूगल या वर्डप्रेस ने किसी कारण से हमारा ब्लॉग Delete कर दिया तो उस वक्त आपकी कोन सहायता करेगा |

तो इस लिए भी कस्टम नाम बहुत जरुरी हैं |

3 Back-link मिलता हैं :

अगर आप फ्री नाम का Use करते हैं तो उससे आपको ज्यादा समय तक backlink नहीं मिलता हैं |और traffic पाने का ये सबसे अच्छा Option हैं |
अगर आपका ब्लॉग ब्लॉगर.com पर है और आप किसी ब्लॉग पर backlink पाने के लिएँ comment या Guest Post करते हैं | तो आप उस ब्लॉग पर कुछ इस प्रकार Link add करेंगे www.gosahayata.blogspot.com
लेकिन ये backlink पाने का तरीका बिल्कुल गलत हैं |

क्योकि जब आप ऐसे URLs का Use करते हैं |तो आपने देखा होगा की इसका Level URL बदल जाता है और वो कुछ इस तरह से Open होता हैं |जैसे www.gosahayata.blogspot.in यानि के ये जिसे देश में open होगा इसका URL Country के हिसाब से लेवल बदल जायेगा |

अंतिम बोल :- 

तो दोस्तों ये थी छोटी सी जानकारी Custom Domain Name खरीदने की अगर आपको इस पोस्ट या इन्टरनेट से related कोई और सवाल है तो आप नीचे Comment बॉक्स में लिख कर हम से पूछ सकते हैं |
और हमारे साथ जुड़ने के लिए हमें Facebook,Twitter और गूगलप्लस पर Follow एंड like जरुर करें |
  

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment